अफीम के साथ तीन महिला तस्कर गिरफ्तार

खोरीबाड़ी , सुनीता। एसएसबी 19वीं वाहिनी को गुप्त सूचना मिली कि ठाकुरगंज ब्लॉक ऑफिस रोड़ के आस पास अवैध मादक पदार्थ की तस्करी की जानी है, इस गुप्त सूचना एवं स्वर्ण जीत शर्मा कमान्डेंट 19वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल ठाकुरगंज के दिशा निर्देशन के आधार पर वाहिनी की “सी.” समवाय नावडूबा के जवानों एवं बिहार पुलिस थाना ठाकुरगंज के साथ संयुक्त टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए विशेष गश्तीदल तैयार किया गया, और गश्ती दल को तुरंत घटना स्थल की ओर रवाना किया गया। और विशेष गश्ती दल द्वारा नशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले लोगों पर कड़ी कार्यवाही करने के क्रम में भारत-नेपाल सीमा स्तंभ संख्या 110 से लगभग 4 किमी. (भारत की ओर) ठाकुरगंज ब्लॉक ऑफिस के समीप तीन महिलाओं को 500 ग्राम संभावित, अफीम के साथ गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की। विशेष गश्ती दल घटना स्थल के पास पँहुची तो गश्ती दल ने देखा कि ठाकुरगंज बस स्टैंड की ओर से तीन संदिग्ध महिलाएं उनकी ओर आ रहे हैं, गश्ती दल पर नजर पड़ते ही तीनों तस्कर महिलाएं भागने लगीं, जिन्हें 19वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल एवं बिहार पुलिस थाना ठाकुरगंज की महिला जवानों द्वारा पीछा कर पकड़ लिया गया और तलाशी लेने पर उनके पास 500 ग्राम संभावित अफीम बरामद की गई। तीनों तस्करों को 500 ग्राम संभावित, अफीम साथ गिरफ्तार कर लिया गया । पूछताछ करने पर तस्करों ने अपना नाम 1. शमीमा खातून, उम्र 25 वर्ष, पत्नी- मोह. सोमा, 2. नुसरत जहां, उम्र 32 वर्ष, पत्नी-नुरुल होड़ा, तथा 3. शबना खातून, उम्र 28 वर्ष, पत्नी- मुदासिर, निवासी ग्राम- पटकुई कला, पुलिस थाना- कोचाधमन, जिला- किशनगंज, बिहार बताया। इन तस्करों द्वारा अफीम को अवैध रूप से भारत से भारत में ही ले जाया जा रहा था। मादक पदार्थ तस्करी का यह एक संदिग्ध मामला होने के कारण तस्करों को आवश्यक कागजी कार्यवाही करने के पश्चात प्राप्त अफीम और अन्य सामग्री के साथ थाना ठाकुरगंज को अग्रिम कार्यवाई के लिए सौंप दिया गया। आज के अधिकांश युवा किसी न किसी नशे की लत की गिरफ्त में हैं, जिससे उनका भविष्य अंधकार की ओर बढ़ता जा रहा है। सभी को यह समझना आवश्यक है कि, किसी भी प्रकार का नशा करने से आप न केवल अपने आप को बल्कि अपने परिवार, रिश्तेदारों को धोखा दे रहे हैं। पढ़े लिखे होने के बावजूद युवा यह भी जानते हैं कि नशा कोई भी हो जानलेवा होता है, फिर भी नशे की ओर खीचें चले जाते हैं| ऐसे में देश के हर एक युवा को यह समझने कि आवश्यकता है कि इस देश के युवा ही देश के भविष्य है। आम जनों से भी अनुरोध किया जाता कि वह अपने आस पास कोई व्यक्ति अवैध गतिविधियां करते हुए प्रतीत हो तो उसके बारे में सशस्त्र सीमा बल को बतायें जिससे कि समाज को नशा मुक्त बनाने में मदद मिलेगी।

Latest News

ऐसी और खबरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें