Share on whatsapp
Share on twitter
Share on facebook
Share on email

चार पहिया यात्री वाहनों की आवागमन की अनुमति मिलने से टैक्सी चालकों सहित आमजनों ने खुशी व्यक्त किया

खोरीबाड़ी। करीब बीस माह बाद भारत – नेपाल के अंतर्राष्ट्रीय सीमा पानीटंकी कांकड़भिट्टा से चार पहिया यात्री वाहनों के आवागमन की अनुमति मिलने के बाद यात्रा में सहज हुआ है । चार पहिया यात्री वाहनों की आवागमन की अनुमति मिलने से टैक्सी चालकों सहित आमजनों ने खुशी व्यक्त किया । हालांकि अभी भी बाइक, टोटो पर प्रतिबंध जारी है । उल्लेखनीय है की कोविड – 19 के कारण पिछले बीस महीनों से पैदल व यात्री वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध लगा हुआ था । बाद में कोविड की स्थिति थोड़ी सामान्य होने पर पिछले कुछ माह पूर्व कोरोना नियमों का पालन व आवश्यक दस्तावेजों के आधार पर पैदल आवागमन के लिए अनुमति दिया गया था । स्थानीय संतोष सिंह ने बताया सीमा पर वाहनों की आवागमन नहीं होने से दोनों देशों की ओर यात्रा करने में लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था । उन्होने बताया चार पहिया यात्री वाहन का आवागमन बहाल होने से लोगों को यात्रा में काफी सहज होगा । पानीटंकी में टैक्सी चालक ने बताया कोरोना काल को लेकर सारा ठप हो गया था । टैक्सी बंद होने से आर्थिक समस्या उत्पन्न हो गई थी । बैंक का ऋण चुकाना मुश्किल हो गया था । सीमा पर चार पहिया यात्री वाहन का आवागमन बहाल होने से थोड़ी आस जगी है । स्थिति में सुधार होने की संभावना है । वहीं दूसरी ओर सीमा पर टोटो रिक्शा का आवागमन बाधित होने से टोटो रिक्शा चालक काफी मायूस है । टोटो चालकों ने बताया कोरोना काल को लेकर सारा ठप हो गया है । टोटो व रिक्शा चालकों ने संबंधित अधिकारियों से आवश्यक कदम उठाते हुए टोटो व रिक्शा को सीमा पर आवागमन बहाल करने की मांग की है ।