तृणमूल किसान खेतमजदूर के दार्जिलिंग जिलाध्यक्ष पद से छोटन किस्कू को हटाने पर विरोध प्रदर्शन

खोरीबाड़ी। तृणमूल किसान खेतमजदूर जिलाध्यक्ष पद से छोटन किस्कू को हटाने का आरोप लगाते हुए छोटन किस्कू के समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया है। मंगलवार को बागडोगरा के संन्यासी चाय बागान संलग्न इलाके में छोटन किस्कू के समर्थकों ने एक पत्रकार सम्मेलन कर क्षोभ प्रकट किया। उनका आरोप है कि इस घटना में आदिवासियों का अपमान किया गया है।
बार-बार एक को पद दिया गया और फिर हटा दिया गया। यह घटना आदिवासी समुदाय के लिए शर्मनाक है। आदिवासी समुदाय की भावना आहत हुई है। इस मामले के प्रतिवाद में आने वाले दिनों में सड़क पर उतर कर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। वहीं, इस संबंध में दार्जिलिंग जिला तृणमूल कांग्रेस की जिलाध्यक्ष पापिया घोष ने कहा कि हमारे जिले में हाल ही में बनी कमिटी में छोटन किस्कू को जिला उपाध्यक्ष बनाया गया है। उन्हें आने वाले दिनों में बड़े पैमाने के कार्य में इस्तेमाल करने की कोशिश की जा रही है। हम किसी को ठेस पहुंचाने के बारे में सोच भी नहीं सकते। कहीं न कहीं कोई गलतफहमी हो गई है। मैंने इस बारे में राज्य के नेताओं से बात की है। वहीं छोटन किस्कू के समर्थकों ने कहा की तृणमूल किसान खेतमजदूर के दार्जिलिंग जिलाध्यक्ष पद से छोटन किस्कू को हटाए जाने के बाद आदिवासी समुदाय काफी दुखी है।

Latest News

ऐसी और खबरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें