दुनिया में कोई भी कार्य असंभव नहीं है, नशा भी छोड़ा जा सकता है:- एकेसी सिंह

खोरीबाड़ी। बुधवार को 41वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल रानीडंगा द्वारा ‘नशा मुक्त भारत पखवाडा’ के अंतर्गत भारत-नेपाल सीमा चौकी पानीटंकी में जागरूकता दौड़ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के आरंभ में ए.के.सी. सिंह उप महानिरीक्षक सीमान्त मुख्यालय सिलीगुड़ी ने उपस्थित जन समूह को नशा मुक्त भारत अभियान के बारे में विस्तृत से जानकारी देते हुए बताया की ‘नशा मुक्त भारत अभियान’ का उद्देश्य न केवल जन-साधारण को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में जागृत करना है बल्कि नशे के खिलाफ जन आंदोलन का रुप देना है ताकि नशे के खिलाफ हर आदमी जुड़ कर अपना योगदान दे सकें। महोदय ने युवाओं को नशे से दूर रहने की सलाह देते हुए कहा कि दुनिया में कोई भी कार्य असंभव नहीं है, नशा भी छोड़ा जा सकता है, इसके लिए दृढ संकल्प लेना जरुरी है। उप महानिरीक्षक महोदय ने बताया कि व्यक्ति मनोरंजन के तौर पर नशे की शुरुआत करता है, लेकिन बाद में यह आदत में शुमार हो जाता है जिससे पूरे परिवार की मानसिक स्थिति के साथ-साथ आर्थिक स्थिति भी खराब हो जाती है। ‘नशा मुक्त जागरूकता दौड़’ मेची नदी पुल से पानीटंकी बाज़ार होते हुए गौरसिंह गाँव तक आयोजित की गयी। इस अवसर पर ए.के.सी. सिंह उप महानिरीक्षक, अशोक कुमार ठाकुर उप-महानिरीक्षक, नवीन कुमार राय द्वितीय कमान अधिकारी, सीमान्त मुख्यालय सिलीगुड़ी, अरुण ब्याला उप कमांडेंट 41वीं वाहिनी, स्वापक नियंत्रण ब्यूरो सिलीगुड़ी के सदस्य, स्थानीय युवागण, गैर सरकारी संगठन के प्रतिनिधि, एसएसबी के अधिकारी एवं बलकर्मी उपस्थित रहे।

Latest News

ऐसी और खबरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें