विभिन्न प्रकार के संक्रमण से बचने के लिए हाथ धुलाई अत्यंत आवश्यक है :- अर्जुन पासवान

खोरीबाड़ी। विश्व हाथ धुलाई दिवस के अवसर पर शनिवार को सीमावर्ती मध्य विद्यालय गलगलिया में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के तहत स्कूली बच्चों को विश्व हाथ धुलाई दिवस के संदर्भ में विभिन्न पहलुओं से अवगत कराया गया। इस दौरान शिक्षक विकास कुमार ने बच्चों को बताया की हाथों को साफ रखेंगे तो बीमारियां पास नहीं आएंगी। हाथ साफ रखने की आदत आपको डायरिया, कोरोना, फ्लू आदि से बचा सकती है। डायरिया होने के मुख्य वजहों में से एक है गंदे हाथों को मुंह में डालना या उससे कुछ खाना। उन्होंने बताया हाथ धोना स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता का ही एक हिस्सा है। हर व्यक्ति को स्वास्थ्य के प्रति इन छोटी-छोटी बातों को ध्यान रखना चाहिए। हम दिन में कई चीजों को छूते हैं। ऐसे में कीटाणु हमारे हाथ की लकीरों में छिप जाते हैं। हाथ धोने के लिए हर बार साबुन का प्रयोग करें। हमारे हाथों में अनदेखी गंदगी छिपी होती है, जो किसी भी वस्तु को छूने, उसका उपयोग करने एवं कई तरह के दैनिक कार्यों के कारण होती है। यह गंदगी, बगैर हाथ धोए खाद्य एवं पेय पदार्थों के सेवन से आपके शरीर में जाती हैं, और बीमारियों को जन्म देती हैं। वहीं विद्यालय के प्रधानाध्यापक अर्जुन पासवान ने बताया हाथों की धुलाई के प्रति जागरूकता पैदा करने के मकसद से पूरे विश्व में 15 अक्टूबर को विश्व हाथ धुलाई दिवस मनाया जाता है। जिसमें हाथ धोने के प्रति जागरूकता हेतु कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। विभिन्न प्रकार के संक्रमण से बचने के लिए हाथ धुलाई अत्यंत आवश्यक है । साबुन से हाथ धोने से डायरिया , दस्त, पीलिया जैसे रोगों से बचा जा सकता है । अब तो कोरोना वायरस से बचाव के लिए भी यह आवश्यक हो गया है । बच्चों को उचित हाथ धुलाई की जानकारी की कमी के कारण वे संक्रमण वाली बीमारियों से ग्रसित हो सकते है । इस अभियान के तहत विद्यालयों की अहम भूमिका है । इस अभियान के अन्तर्गत शनिवार को हाथ की धुलाई का प्रदर्शन एवं हाथ धुलाई शपथ दिलाया गया ।

Latest News

ऐसी और खबरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें