“सशस्त्र सीमा बल का 59 वां स्थापना दिवस कार्य्रक्रम”

खोरीबाड़ी। एसएसबी 19वीं वाहिनी मुख्यालय, के द्वारा सशस्त्र सीमा बल का 59 वां स्थापना दिवस पुरे धूम धाम से मनाया गया। सर्वप्रथम कार्यवाहक कमांडेंट रविकांत द्विवेदी ने सभी बल कार्मिकों को और उनके परिवारजनों को शुभकामनायें दिया तथा अपने संबोधन में कहा की आज 20 दिसंबर 2022 को हम सभी लोग सशस्त्र सीमा बल का 59 वां स्थापना दिवस मनाने जा रहे है। भारत सरकार द्वारा सन् 1962 में चीनी संघर्ष के दौरान यह महससू किया गया की केवल राइफल के बल पर देश की सीमाओं की रक्षा नहीं की जा सकती। इस प्रकार विशेष सेवा ब्यूरो (अब सशस्त्र सीमा बल) की कल्पना नवंबर 1962 में की गई थी तथा बाद में एसएसबी का अधिकार क्षेत्र मणिपुर, त्रिपुरा और जम्मू (1965), मेघालय (1975), सिक्किम (1976), राजस्थान (1985), नागालैंड और मिजोरम (1989) तक बढ़ा दिया गया था। सन् 1963 से एसएसबी का मुख्य जोर राष्ट्रीय जुड़ाव, सुरक्षा और सतर्कता का भावना पैदा करने पर था। सन् 2001 से भारत-नेपाल एवं सन् 2004 से भारत-भटूान सीमा पर तैनाती के बाद एसएसबी ने कम समय में ही नेपाल और भूटान के साथ निर्धारित सीमाओं पर प्रभावी ढंग से अपनी जड़ जमा ली है। भारत-नेपाल एवं भारत-भटूान सीमाओं पर एसएसबी सौहार्दपूर्ण संबंध बनाए रखने के साथ-साथ घसुपैठ, तस्करी और राष्ट्रीय विरोधी गतिविधियों का प्रभावी ढंग से मुकाबला करते हुए सीमाओं पर भारत की सुरक्षा और राष्ट्रीय अखंडता सुनिश्चित करने के दायित्वों को बखबूी निभा रहा है। इसके उपरांत 19वीं वाहिनी के क्रिकेट टीम और ठाकुरगंज क्लब के टीम के साथ मैत्री खेल का आयोजन किया गया जिसमें 19वीं वाहिनी की टीम विजयी रही ।

Latest News

ऐसी और खबरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें