हाथ-पैर ठंडे होने जैसी छोटी समस्या को नजरअंदाज करना खतरनाक हो सकता है. यह कई गंभीर बीमारियों का लक्षण हो सकता है

सर्दी के मौसम में हाथ-पैर ठंडे रहना काफी आम बात है, जिससे बचने के लिए गर्म कपड़े पहनने चाहिए. लेकिन, कुछ लोगों के हाथ-पैर इन कोशिशों के बाद भी ठंडे ही पड़े रहते हैं. यह समस्या दिखने में काफी छोटी लग सकती है, लेकिन इसके पीछे कई गंभीर बीमारी हो सकती हैं. जिन्हें समय पर ना पहचानकर मुसीबत बढ़ सकती है. आइए जानते हैं कि हाथ-पैर ठंडे रहना किन समस्याओं के कारण हो सकता है.

1. थायरॉइड की बीमारी
थायरॉइड की बीमारी का एक प्रकार हाइपोथायरॉइड है, जिसमें मरीज के हाथ-पैर हमेशा ठंडे ही रहते हैं. थायरॉइड डिजीज के इस प्रकार में ग्रंथि पर्याप्त मात्रा में थायरॉइड हॉर्मोन का उत्पादन नहीं कर पाती है.

2. खून की कमी या एनीमिया
हमारे शरीर में खून पोषण और ऑक्सीजन को ट्रांसपोर्ट करने का कार्य करता है. इसके साथ ही सही ब्लड सर्कुलेशन शरीर को गर्म रखने में भी मदद करता है. लेकिन जब शरीर में खून की कमी या एनीमिया की शिकायत हो जाती है, तो शरीर की अंदरुनी गर्माहट कम होने लगती है. जिसके कारण हाथ-पैर ठंडे हो जाते हैं.

3. Winter health tips: हाई कोलेस्ट्रॉल
जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने लगता है, तो रक्त धमनियां ब्लॉक हो सकती हैं. जिसके कारण शरीर में ब्लड सर्कुलेशन खराब हो सकता है. इसी वजह से हाथ-पैर ठंडे हो सकते हैं. यही कोलेस्ट्रॉल हार्ट अटैक या ब्रेन स्ट्रोक का खतरा भी बन सकता है.

4. डायबिटीज
डायबिटीज में बार-बार प्यास लगना और पेशाब आना गंभीर लक्षण है. लेकिन, ब्लड शुगर बढ़े होने के कारण रक्त धमनियां भी सिकुड़ जाती हैं और ब्लड फ्लो बिगड़ने लगता है. डायबिटीज में हाथ-पैर ठंडे होने के पीछे यही कारण होता है.

Latest News

ऐसी और खबरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें