Share on whatsapp
Share on twitter
Share on facebook
Share on email

Malda : नमामि गंगे ने जागरूकता रैली निकाली। मशाल और तख्तियों के साथ आएं नजर

liveaapnews : मालदा वैष्णवनगर क्षेत्र से होकर प्रवाहित होने वाली गंगा की प्रचुरता के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए नमामि गंगा के जिला परियोजना अधिकारी सहित अन्य लोगों ने विभिन्न मार्गों से रैली निकाली जिसमें मशाल और तख्तियों के साथ नजर आएं। पर्यावरणविदों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छ: साल पहले गंगा को शुद्ध करने के उद्देश्य से नमामि गंगा परियोजना की शुरूआत की थी।जिसका असर और लाभ लोगों के जीवन पर देखने को मिलने लगा है।गंगा में डॉल्फ़िन की संख्या बढ़ने के साथ गंगा का 50 प्रतिशत से अधिक हिस्सा अब जैव विविधता के स्तर से ऊपर आ गया है।गंगा को स्वच्छ, शुद्ध और निर्मल बनाने के उद्देश्य जनकल्याण के हितों को ध्यान में रखकर इस परियोजना का शुभारंभ किया गया था। इस परियोजना के मुख्य स्तंभों में से एक जैव विविधता भी है।

इस संदर्भ में नमामि गंगा के जिला परियोजना पदाधिकारी सुब्रत दास ने कहा कि भारत नदियों का देश है। नदी वाले देश में लोगों ने नदी के पानी को मनमाने ढंग से प्रदूषित करने का काम किया है। परिणामस्वरूप नदी की जैव विविधता के संरक्षण में समस्याएं पैदा हुई और इसका असर जनजीवन पर पड़ा। इसी के संरक्षण और मानव के जीवन स्तर को बढ़ाने के लिए जिन क्षेत्रों से गंगा बहती है विशेषकर उन क्षेत्रों में जहां गंगा बहती है, वहां जन जागरूकता बढ़ाने के लिए नमामि गंगे उत्सव का पालन करते हुए मालदा जिले में विभिन्न स्थानों पर रैलियां आयोजित कर जागरूकता बढ़ाने की पहल की जा रही है।

राजेश कुमार जैन

संवाददाता: मालदा।